अल्ट्राटेक काँक्रीट के बारे में

अल्ट्राटेक कंक्रीट भारत की सबसे बड़ी और विश्व की 10वीं सबसे बड़ी कंक्रीट विनिर्माता कंपनी है, जिसने पूरे देश में कई बड़ी अवसंरचना परियोजनाओं को सामर्थ्य प्रदान की है। अल्ट्राटेक कंक्रीट, हर तरह की मांग के अनुरूप उच्च गुणवत्ता के साथ-साथ लागत प्रभावी उत्पादों के निर्माण हेतु प्रतिबद्ध है। हम केवल अपने उत्पादों (प्रोडक्ट) की गुणवत्ता पर ही नहीं बल्कि इनके सौंदर्यात्मक आकर्षण पर भी ध्यान देते हैं। अल्ट्राटेक कंक्रीट में, डिज़ाइन और मज़बूती पर समान रूप से फोकस किया जाता है। हम कंक्रीट संबंधी आवश्यकताओं के समय की कसौटी पर खरे उतरे समाधानों के सटीक मिश्रण को प्रस्तुत करते हैं।

अल्ट्राटेक कंक्रीट भारत में सबसे बड़ा आरएमसी विनिर्माता है जो दो दशक से भी कम समय के भीतर पूरे देश में स्थापित हो गया है। अल्ट्राटेक कंक्रीट ने आईटी समाधानों के माध्यम से निरंतर गुणवत्ता और सेवाएं प्रदान की हैं। हमारी निपुण डिस्पैच और ट्रैकिंग प्रणाली (ईडी एंड टीएस) ग्राहकों को आसान ऑर्डर बुकिंग, विज़िबिलिटी और डिलीवरी ट्रैकिंग की सुविधा प्रदान करती है। कंपनी में कार्यरत इंजीनियरों की टीमें ग्राहकों की आवश्यकताओं के बारे में गहन अध्ययन करती हैं ताकि उनकी आवश्यकताओं के अनुरूप उचित कंक्रीट सामग्री का निर्माण किया जा सके। कंपनी नवाचारों को भी बढ़ावा देती है ताकि इसके बड़ी संख्या में मौजूद ग्राहकों की विविध प्रकार की आवश्यकताओं को पूरा किया जा सके। कुछ मामलों में ग्राहकों को कंक्रीट का मिश्रण तैयार करने हेतु विशेषज्ञता की आवश्यकता होती है, कुछ को उपकरणों की आवश्यकता होती है, जबकि कुछ कंक्रीट विनिर्माण के लिए समर्पित इकाइयां चाहते हैं। ऐसे ग्राहकों को अल्ट्राटेक आवश्यकतानुसार उपयुक्त समाधान प्रदान करने पर ध्यान केंद्रित करता है।

अल्ट्राटेक के रेडी मिक्स्ड कंक्रीट का उपयोग क्यों करें

अल्ट्राटेक कंक्रीट को विशेष रूप से सही प्रकार के गुणधर्म, व्यवहार, संरचना और कार्य-प्रदर्शन प्राप्त करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। यह पारंपरिक कंक्रीट से काफी बेहतर है और इसका विभिन्न कार्यों हेतु उपयोग किया जा सकता है। कच्चे माल के प्रबंधन के लिए दक्ष गुणवत्ता प्रणालियाँ, कच्चे माल के मिश्रण की दक्ष डिजाइन, तथा घन परीक्षण परिणाम – इन सभी से डेटा के विश्लेषण एवं क्लाइंट की आवश्यकताओं को समझने में सहायता मिलती है। डिस्पैच और ट्रैकिंग में दक्षता से बेहतर ऑर्डर बुकिंग और डिलीवरी की विज़िबिलिटी सुनिश्चित होती है। अल्ट्राटेक कंक्रीट उत्पादों का विनिर्माण पूरे भारत में 36 स्थानों पर स्थित 100 से अधिक अत्याधुनिक संयंत्रों में किया जा रहा है।

अल्ट्राटेक स्पेशिलिटी कंक्रीट क्यों उपयोग करें

 

हरे-भरे विश्व का निर्माण

पूरा विश्व हरियाली पर ध्यान केंद्रित कर रहा है, और भारत के सबसे बड़े एवं विश्वसनीय ब्रांड के रूप में, हम, अल्ट्राटेक में भी इसके लिए प्रतिबद्ध हैं तथा इसकी पुष्टि इस बात से होती है कि अल्ट्राटेक कंक्रीट भारत का पहला पर्यावरण हितैषी कंक्रीट है, जिसे भारतीय हरित इमारत परिषद से “ग्रीन प्रो” का सर्टिफिकेशन प्राप्त है।

सीमेंट वर्तमान सोसाइटी के लिए एक आवश्यक सामग्री है क्योंकि सीमेंट से कंक्रीट का निर्माण किया जाता है, जो आवासीय, वाणिज्यिक और अवसंरचना विकास के लिए अनिवार्य तत्व है। एक किलोग्राम प्रति व्यक्ति के आधार पर मापा जाये तो कंक्रीट दुनिया में पानी बाद दूसरी सबसे व्यापक रूप से उपभोग की जाने वाली सामग्री है। सीमेंट विनिर्माण प्रक्रियाओं में स्थानीय प्रभाव (परिदृश्य विघ्न, धूल उत्सर्जन) और वैश्विक प्रभाव (CO2, SOx और NOx उत्सर्जन) की मात्रा में वृद्धि देखी गई है। इन प्रभावों के कारण, पूरे विश्व के सीमेंट निर्माताओं के लिए संधारणीय विकास एक प्रमुख रणनीतिक मुद्दा बन गया है। सीमेंट उद्योग CO2 उत्सर्जन के प्रबंधन पर बहुत विशिष्ट ध्यान दे रहा है।

अल्ट्राटेक कंक्रीट खदान स्थलों पर इकोलॉजिकल डिग्रडेशन, उड़ती धूल और धूल के ढेरों व ग्रीन हाउस गैसों के कारण होने वाले वायु प्रदूषण जैसे पर्यावरणीय मुद्दों से निपटने के लिए विभिन्न समाधानों को अपना रहा है:

  • उड़ने वाली धूल के उत्सर्जन को नियंत्रित करने के लिए कच्चे माल हेतु शेडों का निर्माण किया गया है और भंडारण डिब्बों पर नेट कवर लगाया गया है।

  • व्हील लोडर द्वारा कच्चे माल की निरंतर हैंडलिंग से संचालन के दौरान धूल का उत्सर्जन होता है।

  • संयंत्र की बाउन्ड्री को चारों तरफ से शीट द्वारा ढँकना।

  • 3 चरणों वाली भूमिगत धूल-संग्रहण प्रणाली जिसमें साइक्लोन यूनिट, फिल्टर यूनिट और सक्शन सहित स्टैक यूनिट भी शामिल हैं।

  • संधारणीय कन्सट्रक्शन के लिए वैल्यू एडेड कंक्रीट को प्रोत्साहन।

  • एलईईडी सर्टिफिकेशन की आवश्यकता को पूरा करने वाली भारत की पहली आरएमसी और अपनी श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ पर्यावरणीय प्रदर्शन।

  • फ्लाई ऐश / स्लैग और माइक्रो सिलिका जैसे अपशिष्ट पदार्थ का कच्चे माल के रूप में प्रभावी ढंग से उपयोग करना;

  • अस्वीकृत कच्चे माल या अप्रयुक्त कंक्रीट के 50% से अधिक भाग का नई कंक्रीट बनाने के लिए पुनर्चक्रण किया जाता है और प्रक्रिया में वापस उपयोग किया जाता है, जो संधारणीयता के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाता है। सेल्फ-एनर्जाइज़्ड इलेक्ट्रो केमिकल ऑटो लूब्रिकेशन सिस्टम

Get Answer to
your Queries

Enter a valid name
Enter a valid number
Enter a valid pincode
Select a valid category
Enter a valid sub category
Please check this box to proceed further
LOADING...